Copyrite © All copyrigts are reserved with Shiv Kumar Surya and sksurya.com
मैं हवा और पानी के बिना भले ही रह लूं , किन्तु गीतों के बिना एक पल भी नहीं.
Shiv Kumar Surya’s Lyrics:  Sapmle Lyrics
जिस तरह फूलों में रंग के अतिरिक्त सुगंध का गुण स्वाभाविक रूप में मौजूद रहता है, मेरे गीतों की पृष्ठभूमि में संगीत स्वाभाविक रूप में साथ-साथ चलता है.”
थबीगमेSurya’sछLyrics: An Introduction
- शिव कुमार सूर्य
- शिव कुमार सूर्य
Official Personal Website of Shiv Kumar Surya
Home About Publishes Work Lyricist Surya Photo Gallery Blog Contact Sample Lyrics
Sample Lyrics
Lyricist Surya
शिव कुमार सूर्य के गीतों की कुछ नमूना पंक्तियां
घटा चांदनी रात दिल प्यार
मानवता
दर्द
 गम
अम्बुआ
सैयां
शिकवा
किस्मत
झूला डाली
फ़र्ज़
फ़रमान डगर दौर
किस्मत
ऎ दिल मेरे तू डरना नहीं किस्मत में अभी गम और भी हैं शिकवा किसी से करना नहीं किस्मत के यही तो दौर हैं
ऎ दिल मेरे तू
प्यार का है फ़र्ज़ का
- शिव कुमार सूर्य
- शिव कुमार सूर्य
र्वाधिकार सुरक्षित: शिव कुमार सूर्य) शिव कुमर सूर्य के गीत फ़िल्म राईटर्ज एसोसिएशन मुम्बई द्वारा पंजीकृत हैं. बिना पूर्व अनुमति के किसी भी रूप (प्रसारण, प्रकाशन, संगीत तथा अन्य डिजीटल रूप) में इनका उपयोग वर्जित है.
!
अगर बगर सारी डगर डगर पडे अम्बुआ की डाली झूले भूले सैयां न आए झूला झूलने
गुम है घटा में चांदनी, आज रात बहुत उदास है । जो सबकी निगाहों से दूर है, वो मेरे दिल के पास है ॥
गुम है घटा में चांदनी,
- शिव कुमार सूर्य
प्यार का है फ़र्ज़ का
प्यार का है फ़र्ज़ का इक अनोखे कर्ज़ का ईश के फ़रमान का है मानवता के गर्व का ये रिश्ता है दर्द का
- शिव कुमार सूर्य